श्री लंका में आतंकवादी हत्याकांड की कड़ी निंदा करें!

श्री लंका में 21 अप्रैल को हुए क्रमिक बम विस्फोट हाल में हुए भयानक हत्याकांडों में से एक था समाचारों के अनुसार, कम से कम 215 लोग मारे गए हैं और 450 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।

बड़े सोचे-समझे तरीके से, ईसाई लोगों को इन बम विस्फोटों का निशाना बनाया गया। 21 अप्रैल ईस्टर रविवार था, जिस दिन पर श्री लंका और सारी दुनिया में, ईसाई श्रद्धालू गिरजाघरों में प्रार्थना के लिए एकत्रित होते हैं। ठीक उस समय जब गिरजाघरों में प्रार्थना चल रही थी, राजधानी कोलोंबो और पूर्वी शहर बट्टीकालोया में कम से कम 4 गिरजाघरों में बम विस्फोट हुए। श्री लंका की राजधानी के 3 प्रमुख होटलों में भी बम विस्फोट हुए। श्री लंका के सरकारी अधिकारियों के अनुसार, इस कायरतापूर्ण हमले में मरने वालों में से कम से कम 35 लोग विदेशी थे, जिनमें 3 हिन्दोस्तानी थे।

श्री लंका की सरकार ने वहां कर्फ्यू लगा रखा है। सरकार ने लोगों को शांत रहने को कहा है और सोशल मीडिया के जरिये झूठी अफवाहों के फैलाव को रोकने के कदम लिए हैं। प्रकाशित होने के समय तक, किसी आतंकवादी गिरोह ने इस भयानक हत्याकांड की ज़िम्मेदारी नहीं ली है।

कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी श्री लंका के बेक़सूर लोगों पर इस आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करती है। इस घोर त्रासदी के पीड़ितों के परिजनों को हम अपने दिल से संवेदना प्रकट करते हैं। धर्मस्थलों को सोच-समझ कर निशाना बनाना, ईसाई लोगों के एक पुण्य दिवस पर ऐसा हमला आयोजित करना, इन सब का मकसद है लोगों के आपस बीच दुश्मनी उक्साना और धर्म के आधार पर लोगों को बांटना। कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी को पूरा भरोसा है कि श्री लंका के लोग, जो लाखों-लाखों लोगों की जान लेने वाले बर्बर गृहयुद्ध को झेल चुके हैं, इस दुखद त्रासदी पर काबू पा सकेंगे और अपने लोगों की एकता व भाईचारे की हिफाज़त करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *