पंजाब में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का संघर्ष

10 जुलाई को जलंधर के देश भगत यादगार हाल में पूरे पंजाब राज्य से सैकड़ों आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और आंगनवाड़ी सहायक इकट्ठा हुए और उन्होंने मांग रखी कि उनके वेतन में वृद्धि का राज्य सरकार द्वारा दिया जाने वाला हिस्सा सरकार तुरंत जारी करे।

Anganwadi workers protest in Ludhiana July 10, 2019अक्तूबर 2018 को केंद्र सरकार ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और आंगनवाडी सहायकों के वेतन में 1500 रुपये का इजाफ़ा किया था और इसका 60 प्रतिशत हिस्सा केंद्र सरकार द्वारा दिया जाना था और बाकी का हिस्सा राज्य सरकार की ज़िम्मेदारी है। लेकिन पंजाब सरकार ने अभी तक आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के वेतन की बढ़ोतरी में अपना हिस्सा नहीं दिया है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने एक पत्र लिखा है जिसे प्रधानमंत्री, राज्य के मुख्यमंत्री और हर एक जिले के प्रोग्राम अधिकारी को भेजा गया है।

सरकार के सामेकित बाल विकास योजना (आई.सी.डी.एस.) कार्यक्रम के तहत बच्चों को कुपोषण से बचाने में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसके अलावा वे 0 से 6 वर्ष के बच्चों के टीकाकरण में भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायक यह मांग करते आये हैं कि 45वें श्रम अधिवेशन की सिफारिशों को अमल में लाया जाये और सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायकों को न्यूनतम वेतन के तहत लाते हुए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को 18,000 रुपये और आंगनवाड़ी सहायक को 15,000 रुपये प्रतिमाह का वेतन दिया जाये। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायक यह भी मांग कर रहे हैं कि उनको सामाजिक सुरक्षा, 3,000 रुपये पेंशन और ग्रेच्युटी की सुविधाएं मिलनी चाहिए।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायकों ने फैसला किया है कि यदि सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं करती है तो वे अपना आंदोलन और भी तेज़ कर देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *